Category: रिश्तों पर कविताएं

पति पत्नी प्रेम कविता :- साथ चलेंगे कदम कदम | Pati Patni Prem Kavita

1+ लॉकडाउन के बाद पति से मिलने पर पत्नी की भावनाओं पर लिखी गयी ( Pati Patni Prem Kavita ) पति पत्नी प्रेम कविता “साथ चलेंगे कदम कदम ” …

भ्रूण हत्या पर कविता :- माँ मुझे भी जीना है | Bhrun Hatya Kavita In Hindi

5+ भ्रूण हत्या पर कविता माँ मुझे भी जीने की लालसा है! मेरी भी कुछ अभिलाषा है! मैं भी नभ के तारे बन चाहती हूँ दमकना! मैं भी सूरज …

पिता को समर्पित कविता :- शिक्षित किए मुझे मेरे तात। Pita Ko Samarpit Kavita

1+ पिता को समर्पित कविता कंधों पर अपने मुझे बिठाकर अंजान जगत से मुझे मिलाया। मेरी मूक बातों को समझकर उर में मेरे प्रेम का पुष्प खिलाया।। अपनी इच्छाओं …

भाई पर हिंदी कविता :- जिसको हम सब कहते भाई | Hindi Poem On Brother

2+ आप पढ़ रहे हैं ( Hindi Poem On Brother ) भाई पर हिंदी कविता ” जिसको हम सब कहते भाई ” :- भाई पर हिंदी कविता एक अनोखा …

जीवनसाथी पर कविता :- जीवनसाथी के संग आसान | Jeevansathi Par Hindi Kavita

0 जीवनसाथी पर कविता पहली बार जब उसको देखा दिल ने कहा चांद निकला। देख के उसकी मोहक मुस्कान ह्रदय का मेरे मौसम बदला।। दुनिया मेरी थम सी गई …

माँ पर कविता हिंदी में :- मां होती हैं जिसके पास | Maa Par Kavita Hindi Me

1+ माँ पर कविता हिंदी में मां होती हैं जिसके पास वह होता है सबसे अमीर। बिन मां के सिकन्दर भी होता है सबसे बड़ा फकीर।। मां सुत की …