ग़ज़लों की दुनिया

ग़ज़लों की दुनिया में पाइए जैसी भी आपको ग़ज़ल चाहिए

 

ग़ज़ल हिंदी ( Ghazal Hindi Mein ), उर्दू ग़ज़ल ( Urdu Ghazal )दर्द भरी ग़ज़ल ( Dard Bhari Ghazal ), Ghazal Lyrics , Love Ghazal , New Ghazal , गजल गीत , गजल गम भरी ,
ग़ज़ल चाहिए ग़ज़ल

ग़ज़ल तर्क वितर्क

ग़ज़ल तर्क वितर्क | Ghazal Tark Vitark

ग़ज़ल तर्क वितर्क मुश्क़िलों को समझें तर्क – वितर्क करें , मज़हबों में नहीं सोच में फ़र्क़ करें। कोहिनूर भी किसी ने चुरा लिया था

Read More »
ग़ज़ल तर्क वितर्क

ग़ज़ल अच्छा लगता है | Ghazal Achha Lagta Hai

ग़ज़ल अच्छा लगता है ख़त का आना,सबसे छुपाना, अच्छा लगता है। सोच के रखना नया ठिकाना, अच्छा लगता है। पहली टक्कर,ज़ोर का झगड़ा नहीं भूलता

Read More »
ग़ज़ल तर्क वितर्क

ग़ज़ल – बावरा मन | Ghazal Bawra Man

ग़ज़ल – बावरा मन पेड़ की फुनगी का तोता बावरा मन। उन्स में ईश्वर के रोता बावरा मन। ग़र्ज़ के गहरे समुंदर में नहाकर हर

Read More »