Category: जिंदगी पर कविताएं

विवाह पर कविता :- परिणय स्वीकार करो | Vivah Par Kavita

0 आप पढ़ रहे हैं ( Vivah Par Kavita ) विवाह पर कविता :- विवाह पर कविता स्वर्णिम सुखद सुअवसर पर, यह परिणय स्वीकार करो… सम्प्रति साक्षी हैं गिरिजा …

घर के बंटवारे पर कविता :- बँटवारे का माहौल

+3 आप पढ़ रहे हैं घर के बंटवारे पर कविता :- घर के बंटवारे पर कविता तन्हाईयों का शोर फिर से, गूँजने लगा है शहर में। जाने क्या से …

हिंदी कविता काल चक्र | Hindi Kavita Kaal Chakra

0 सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड काल चक्र से निर्मित एवं संचालित है ।सभी चर अचर काल चक्र के नियमानुसार गतिमान हैं । ब्रह्माण्ड में जड़,चेतन सभी का जीवन एवं सभी की …

बदलते समय पर कविता :- समय का पहिया घूम रहा है

0 बदलते समय पर कविता :- वृद्धाश्रम जाने से पहले एक वृद्ध माँ-बाप उसके बच्चे के बीच के वार्तालाप पर कविता, बड़ी पीड़ा होती है वृद्धाश्रम देखकर, पर अगर …

हिंदी कविता शापित | Hindi Kavita Shapit

+2 आप पढ़ रहे हैं ( Hindi Kavita Shaapit ) हिंदी कविता शापित :- हिंदी कविता शापित कुछ पदचिन्ह छोड़ चले हम, जिंदगी की राहों में, ढूंढोगे घर हमारा …

हिंदी कविता कुछ पल | Hindi Kavita Kuchh Pal

0 आप पढ़ रहे हैं ( Hindi Kavita Kuchh Pal ) हिंदी कविता कुछ पल :- हिंदी कविता कुछ पल नीला आकाश , आकाश में उड़ते पंक्षी सागर की …