Home » कालिका प्रसाद सेमवाल

कालिका प्रसाद सेमवाल

नाम—कालिका प्रसाद सेमवाल
शिक्षा—एम०ए०, भूगोल, शिक्षा शास्त्र
आपदा प्रबंधन, व्यक्तित्व विकास फाउंडेशन कोर्स विशेष आवश्यकता वाले बच्चों के लिए बी०एड० सम्प्रति व्याख्यात
सेवारत —जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान रतूड़ा रूद्रप्रयाग उत्तराखंड
प्रकाशित पुस्तकें–रूद्रप्रयाग दर्शन
अमर उजाला,दैनिक जागरण ,हिंदुस्तान व पंजाब केसरी विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में धर्म संस्कृति व सम सामयिक लेख प्रकाशित होते हैं ,उत्तराखंड विघालयी शिक्षा की हमारे आसपास,कक्षा 3,4,5, और कक्षा 6 की सामाजिक विज्ञान पुस्तक लेखन समिति के सदस्य और लेखक भी हैं।

अब तक प्राप्त सम्मान—
रेड एण्ड व्हाईट पुरस्कार, हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग द्वारा साहित्यभूषण, साहित्य मनीषी,अन्य मानस श्री कालिदास सम्मान,उत्तराखंड गौरव साहित्य मण्डल, श्रीनाथ द्वारा साहित्य रत्न, साहित्य महोपाध्याय सम्मानोपधि व देश की विभिन्न संगठनों द्वारा साहित्य में पचास से अधिक सम्मान मिल चुके है
पता—मानस सदन अपर बाजार
रूद्रप्रयाग उत्तराखंड
पिनकोड 246171

हिंदी कविता :- मन करता है गीत लिखूं मैं | Hindi Kavita

जुदाई पर कविता

0 आप पढ़ रहे हैं हिंदी कविता – मन करता है गीत लिखूं मैं :- हिंदी कविता मन करता है गीत लिखूं मैं, मन करता है प्रीति जताऊँ। सन्ध्या की हर किरण दिवानी, पंखुरियों की मांग सजाती। खिलती वन वन सन्ध्या-रानी, जीवन के मधु गीत सुनाती। ऐसी मधुमय बेला रंगिनि, आओ अपने अंक लगाऊँ। उड़े …

हिंदी कविता :- मन करता है गीत लिखूं मैं | Hindi Kavita Read More »

चरित्र पर कविता :- मूल्यांकन | Charitra Par Kavita

कविताएं साथ चलती हैं

0 जीवन में आप कुछ भी बन जाएँ, कोई भी मुकाम आपको हासिल हो जाए। आपकी पहचान सदा आपके चरित्र से ही होती है। यही भाव प्रकट किये गए हैं इस ( Charitra Par Kavita ) चरित्र पर कविता ” मूल्यांकन ” में :- चरित्र पर कविता सोने वालोंं जागो, जाग जाओ। यह जीवन यूं …

चरित्र पर कविता :- मूल्यांकन | Charitra Par Kavita Read More »

हिंदी भक्ति कविता :- हे करूणानिधान दया करो

हिंदी भक्ति कविता

0 जीवन में सही मार्ग दिखाने के लिए प्रार्थना करती हुई हिंदी भक्ति कविता ( Hindi Bhakti Kavita ) ” हे करूणानिधान दया करो ” हिंदी भक्ति कविता हे करूणानिधान दया करो अपनी कृपा बनाए रखें हम अज्ञानी तेरी शरण में हमें सही राह बताना प्रभु। ये जीवन तुम्ही ने दिया है राह भी तुम्हें …

हिंदी भक्ति कविता :- हे करूणानिधान दया करो Read More »

शेरावाली माँ पर भक्ति कविता :- हे मां शेरावाली

माँ दुर्गा पर कविता

+1 महिषासुर का संहार करने वाली और शेर पर सवारी करने वाली माँ दुर्गा को समर्पित शेरावाली माँ पर भक्ति कविता ( Sherawali Maa Par Bhakti Kavita ) :- शेरावाली माँ पर भक्ति कविता हे मां शेरावाली अन्दर ऐसा प्रेम जगाओ जन जन का उपकार करूं, प्रज्ञा की किरण पुंज तुम हम तो निपट अज्ञानी …

शेरावाली माँ पर भक्ति कविता :- हे मां शेरावाली Read More »

शिक्षा और शिक्षक पर कविता | Shiksha Aur Shikshak Kavita

शिक्षक पर कविता

0 जीवन में क्या है शिक्षा और शिक्षक का महत्त्व आइये जानते हैं शिक्षा से संबंधित इस शिक्षा और शिक्षक पर कविता ( Shiksha Aur Shikshak Par Kavita ) :- शिक्षा और शिक्षक पर कविता शिक्षा ही जीवन का आधार है, देश का विकास भी शिक्षा के स्तर पर निर्भर, शिक्षा का स्तर,शिक्षक पर है …

शिक्षा और शिक्षक पर कविता | Shiksha Aur Shikshak Kavita Read More »

हिंदी कविता – मेरी कविताएँ | Hindi Kavita Meri Kavitayen

कविताएं साथ चलती हैं

0 एक रचनाकार अपनी रचनाओं में मात्र शब्द ही नहीं बल्कि भावनाएं भी उतारता है। क्या कहती हैं एक रचनाकार की कविताएँ आइये पढ़ते हैं हिंदी कविता – मेरी कविताएँ ( Hindi Kavita Meri Kavitayen ) में :- हिंदी कविता – मेरी कविताएँ मेरी कविताएं सदा सिखाती है ख़ुशी ख़ुशी से जीवन जिएं अहंकार छोड़ …

हिंदी कविता – मेरी कविताएँ | Hindi Kavita Meri Kavitayen Read More »

माँ सरस्वती की कविता :- मां शारदे इतना उपकार करो

हिंदी कविता सरस्वती वंदना

+1 आप पढ़ रहे हैं माँ सरस्वती की कविता ( Maa Saraswati Ki Kavita) “मां शारदे इतना उपकार करो” माँ सरस्वती की कविता हम अज्ञानी और अल्प बुद्धि है, मां शारदे इतना उपकार करो। हम सब के अन्तर्मन में, झंकृत वीणा तार करो। अन्दर ऐसा भाव जगाओ, जन-जन का उपकार करे। हम से यदि त्रुटियां …

माँ सरस्वती की कविता :- मां शारदे इतना उपकार करो Read More »

शिक्षक दिवस पर कविता – शिक्षा का दीप जलाता शिक्षक

शिक्षक दिवस पर कविता - शिक्षा का दीप जलाता शिक्षक

0 प्रिय पाठकों आज आप सबके लिए ( Shikshak Diwas Par Kavita ) शिक्षक दिवस पर कविता – शिक्षा का दीप जलाता शिक्षक प्रस्तुत है. तो आइये पढ़ते हैं श्री कलिका प्रसाद जी के शब्दों में गुरु की महिमा बताती कविता – शिक्षक दिवस पर कविता शिक्षा का दीप जलाता शिक्षक समाज में समरसता लाता …

शिक्षक दिवस पर कविता – शिक्षा का दीप जलाता शिक्षक Read More »

प्रेम विरह कविता हिंदी – हृदय की व्यथा | Prem Virah Kavita

जुदाई पर कविता

+3 प्रिय पाठकों आप सभी के लिए प्रस्तुत है ( Prem Virah Kavita Hindi ) प्रेम विरह कविता हिंदी ” ह्रदय की व्यथा ” कालिका प्रसाद जी के शब्दों में , तो आइये पढ़ते हैं – प्रेम विरह कविता हिंदी प्रणय को निभाना कठिन जिन्दगी में, लहरियां दे थपकी तटों को सुलाती, खिली प्रात कलियां, …

प्रेम विरह कविता हिंदी – हृदय की व्यथा | Prem Virah Kavita Read More »

आदमी पर कविता :- आदमी अकेला है | Aadmi Par Kavita

आदमी अकेला ही है -जीवन कविता

0 आदमी पर कविता “आदमी अकेला है” – प्रिय पाठकों,आज की कविता है ” आदमी अकेला ही है -जीवन कविता ” कभी कभी हम सारे संशाधन होने के बाद भी खुद को जीवन में अकेला महसूस करते हैं , और ऐसी स्थिति में मन करता है कि सबसे दूर कुछ पल अपने साथ अकेले में …

आदमी पर कविता :- आदमी अकेला है | Aadmi Par Kavita Read More »

माँ सरस्वती पर कविता – जनप्रिय माँ जनोपकारणी

माँ सरस्वती वंदना कविता

0 प्रिय पाठकों आज हम ज्ञान की देवी ( Maa Saraswati Vandana Kavita ) माँ सरस्वती पर कविता पढ़ेंगे। इसके साथ ही माँ सरस्वती हम सभी को सद्ज्ञान, सद्द्बुद्धि दे। तो आइए पढ़ते हैं कालिका प्रसाद सेमवाल जी की रचना माँ सरस्वती पर कविता जवनप्रिय माँ जनोपकारणी जग जननी, जल जीवधारणी। स्वर्णिम ,श्वेत, धवल साड़ी …

माँ सरस्वती पर कविता – जनप्रिय माँ जनोपकारणी Read More »

सरस्वती वंदना कविता – हे मां सरस्वती

सरस्वती वंदना कविता

0 आप पढ़ रहे हैं सरस्वती वंदना कविता “हे माँ सरस्वती” सरस्वती वंदना कविता हे मां सरस्वती…. हमें विचार का अभिदान दो मां स्वाभिमान का मान लो योग्य पुत्र बन सके मां चित्त में शुचिता भरो, हे मां सरस्वती कर्म में सत्कर्म दो बुद्धि में सुमति दो वाणी में माधुर्य दो देवी ,तू प्रज्ञामयी मां …

सरस्वती वंदना कविता – हे मां सरस्वती Read More »