हिंदी कविता हूँ मैं बेशरम | Hindi Kavita Main Hun Besharam

हिंदी कविता हूँ मैं बेशरम यूँ तो हम बेशरम ना थे मगर जमाने वालो ने हमें बनाया अगर अपनो के लिए आवाज उठाने से होता है बेशरम  तो हाँ …

गंगा नदी पर कविता :- माँ गंगा नाम से पुकारी जाती | Ganga Nadi Par Kavita

गंगा नदी पर कविता प्रचीन गौरवमयी अविरल धारा बहती ।। स्वर्ग , धरती ओर पाताल मे ।। माँ गंगा नाम से पुकारी जाती ।। स्पर्श भोलेनाथजी का पाकर ।। …

हिंदी कविता जंग जीतना चाहते हैं | Hindi Kavita Jung Jeetna Chahte Hain

हिंदी कविता जंग जीतना चाहते हैं हर जंग जीतना चाहते हैं हम हर इम्तिहान में उतरना चाहते हैं हम । जो बस हम चाहें वो पा सकें, बस यही …

कविता गीत पटल के गाऊंगा | Kavita Geet Patal Ke

हिंदी कविता गीत पटल के गाऊंगा नाम पटल के सारा जीवन इक दिन मैं कर जाऊंगा, जब तक साँस चलेगी मेरी गीत पटल के गाऊंगा। फीकी फीकी सी लगती …

जन्म दिन पर शायरी ग़ज़ल | Janamdin Par Shayari Ghazal

नमस्कार दोस्तों मुझे बहुत बार लोग़ों ने ये कहा है कि मैं जन्म दिन पर भी कोई ग़ज़ल लिखूँ। तो इस लिए आज मैं आपका शायर ‘यशु जान’ अपनी …

हिंदी कविता श्रृंगार | Hindi Kavita Shringar

हिंदी कविता श्रृंगार   “ना बाल बनाई , मैं काजल लगाई ना लाली लगाई , ना बिंदिया लगाई फिर भी झलकती है, तुझ में चांदनी क्योंकि तुझ में है …