बालिका दिवस पर कविता :- लो आज फिर आया

आप पढ़ रहे हैं ( Balika Diwas Par Kavita ) बालिका दिवस पर कविता ” लो आज फिर आया ” :- बालिका दिवस पर कविता लो आज फिर आया, …

जीवन साथी पर कविता :- मेरे साथी साथ निभाना

जीवन साथी पर कविता मेरे साथी साथ निभाना। कभी ना टूटे यह याराना । हर राज का तू है राजदार। मेरे हर लेखे का तू है पक्का पहरेदार। तेरे …

हिंदी कविता कर्महीन नर | Hindi Kavita Karmheen Nar

आप पढ़ रहे हैं हिंदी कविता कर्महीन नर :- हिंदी कविता कर्महीन नर है कर्महीन नर निज पशुता सम, पथहीन निराश्रित विषय विषम। मानव तन है मूल्यवान निज कर्तव्यो …

हिंदी कविता शापित | Hindi Kavita Shapit

आप पढ़ रहे हैं ( Hindi Kavita Shaapit ) हिंदी कविता शापित :- हिंदी कविता शापित कुछ पदचिन्ह छोड़ चले हम, जिंदगी की राहों में, ढूंढोगे घर हमारा एक …

कलम पर कविता :- कलम की ही जय कहूँगा

क्रांति सिर्फ बंदूकों से ही नहीं आती, कलम से भी आती है। बन्दूक से तो किसी को डराया, धमकाया या मारा जा सकता है लेकिन बदला नहीं जा सकता। …

हिंदी कविता कई सपने | Hindi Kavita Kayi Sapne

हिंदी कविता कई सपने तन्हा बैठकरके खुद से,कई सवाल कर रखे हैं। हाँ मैंने भी दिल में,कई सपने पाल कर रखे हैं। जिंदगी की राहों पर, कई ख़याल कर …