हिंदी कविता बदलना अपना दृष्टिकोण | Badalna Apna Drishtikon

आप पढ़ रहे हैं हिंदी कविता बदलना अपना दृष्टिकोण :- हिंदी कविता बदलना अपना दृष्टिकोण चलो स्वयं से निर्णय करें हम विपत्ति का खोजेगे समाधान। एकाग्र अगर हम हो …

किस्मत पर कविता | Kismat Par Kavita

आप पढ़ रहे हैं किस्मत पर कविता :- किस्मत पर कविता क्या है ये क़िस्मत ? सोचो तो सोचते रह जाओगे पुछो तो पूछते रह जाओगे कि क्या है …

हिंदी कविता हाशिए पर बेटियां | Kavita Hashiye Par Betiyaan

आप पढ़ रहे हैं हिंदी कविता हाशिए पर बेटियां :- हिंदी कविता हाशिए पर बेटियां टूटे कंधे और कटी ज़बान, वस्त्र, गुप्तांग हैं लहुलुहान देह पर नाखूनों के निशान …

अन्नदाता पर कविता :- इस देश का अन्नदाता

आप पढ़ रहे हैं ( Annadata Par Kavita ) अन्नदाता पर कविता :- अन्नदाता पर कविता इस देश का अन्नदाता चारों तरफ से बेहाल है, कोई पूछने वाला नहीं …

हवा पर छोटी कविता :- मैं हवा हूँ | Hawa Par Kavita

आप पढ़ रहे हैं हवा पर छोटी कविता :- हवा पर छोटी कविता नदियों से बहते हुए पहाड़ों को छू कर, झाड़ियों से झगड़ कर झरनों से सिमटकर। पक्षियों …