Home हिंदी कविता संग्रह Chhattisgarh Par Kavita | मेरा छत्तीसगढ़ महान है | Hindi Poem On Chhatigarh

Chhattisgarh Par Kavita | मेरा छत्तीसगढ़ महान है | Hindi Poem On Chhatigarh

0 comment

Chhattisgarh Par Kavita – आप पढ़ रहे हैं छत्तीसगढ़ पर कविता मेरा छत्तीसगढ़ महान है :-

Chhattisgarh Par Kavita
मेरा छत्तीसगढ़ महान है

Chhattisgarh Par Kavita

महकती प्रकृति की गोद में
बसा, देश की शान है।
लवकुश की जन्मस्थली,
मेरा छत्तीसगढ़ महान है।

राजिम,सिरपुर,शिवरीनारायण,
चंद्रपुर पवित्र धाम है।
केशकाल,मैनपाट,चित्रकूट,
तीरथगढ़ स्वर्ण समान है।

कोरबा कोयला का भंडार,
बैलाडीला दल्ली लोहे की खान है।
वीर नारायण, गुरू घासीदास,
गुण्डाधुर माटी पुत्र महान है।

देखो ऊँची पहाड़ी पर बसा,
बम्बलेश्वरी मैया का धाम है।
दंतेवाड़ा की दंतेश्वरी और
रतनपुर माँ समान है।

मंदिरों की नगरी आरंग,
कुटुम्बसर की गुफा अनजान है।
पोरा, तीजा, नवाखाई, हरेली,
छेरछेरा, त्यौहारों की शान है।

गोंड, बैगा, कमार, उरांव, हलबा,
संवरा जनजातियाँ महान है।
धान का कटोरा, खैरागढ़
गीत संगीत का खान है।

छत्तीसगढ़ी दानलीला,
साहित्य का रामायण समान है।
छत्तीसगढ़ की माटी सिंचित करता,
गंगरेल,दुधवा,बाँगो बांध है।

छत्तीसगढ़ का गौरव
पं. रविशंकर शुक्ल माटी पुत्र महान है।
भोरमदेव, गिरौदपुरी, दामाखेड़ा
और प्रसिद्ध सोनाखान है।

ददरिया, भरथरी, लोरिक-चंदा,
पंडवानी महाभारत की गान है।
भिलाई का इस्पात, कोरबा का ताप,
अर्थव्यवस्था की जान है।

महानदी, शिवनाथ, हसदो, इन्द्रावती,
जोंक पानी की खान है।
आन्नदमयी वातावरण वाला,
मेरा छत्तीसगढ़ महान है।

पढ़िए :- भारत दुर्दशा कविता | Bharat Durdasha Kavita In Hindi


रचनाकार का परिचय

सुन्दर लाल डडसेना "मधुर"

यह कविता हमें भेजी है सुन्दर लाल डडसेना “मधुर” जी ने ग्राम-बाराडोली(बालसमुंद),पो.-पाटसेन्द्री तह.-सरायपाली,जिला-महासमुंद (छ. ग.) से।

नाम – सुन्दर लाल डडसेना”मधुर”
पिता– श्री जलधर डडसेना
शिक्षा – एम.ए.(हिन्दी,अर्थशास्त्र,इतिहास), पीजीडीसीए,डी.एड.
व्यवसाय – सहा.शिक्षक(एल.बी.)
साहित्य सेवा (विवरण) – पत्र पत्रिकाओं में रचनाएँ,कविताएं व लेख प्रकाशित,
साझा संकलन- मातृभूमि,पहल एक नई सोच,कलाम,आर्यावर्त,नया गगन,साहित्य सरोवर लाडो,जननायक,सरस्वती, कविता के संगम पर,चमकते कलमकार भाग2,वृक्ष लगाओ वृक्ष बचाओ,शब्द सारथी,चलते चलते,साहित्य लहर,रंग दे बसंती में कवितायें संकलित।

‘ छत्तीसगढ़ पर कविता ‘ ( Chhattisgarh Par Kavita ) के बारे में अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे रचनाकार का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी बेहतरीन रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

संबंधित रचनाएँ

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.