छात्रों के लिए प्रेरणादायक कविता | Motivational Poem For Students

2+

छात्रों को उत्साहित करने वाली इस कविता में आपको प फ ब भ म – ये पांच अक्षर नहीं मिलेंगे। होठों को बिना स्पर्श किए आप छात्रों के लिए प्रेरणादायक कविता ( Motivational Poem For Students In Hindi ) पढ़ सकते हैं।

छात्रों के लिए प्रेरणादायक कविता

छात्रों के लिए प्रेरणादायक कविता

साधना तो अध्ययन के साथ होना चाहिए ।।
दिया जला उजाला सारी रात होना चाहिए ।।

अनंत कोटि खोज से संसार ही सानिद्ध है,
उत्कृष्ट कोटि कार्य का आधार सदा सिद्ध है,
यह क्रुद्ध युद्ध सत्य है स्वीकार आज कीजिए,
कुशल कला कौशल निखार साज आज दीजिए,
आलस्य त्याग, जाग, ना कुछ घात होना चाहिए।।
दिया जला उजाला सारी रात होना चाहिए।।

आकृष्ट है संसार सुख कि ओर, न झुक जाइए,
क्षणिक सुखों के छांव तले राह, न रुक जाइए,
हे छात्र खुद को राखिए चतुर सुजान जान के,
संघर्षरत रहो सदा सचेत सीना तान के,
गर चित्त को हो द्वंद तो निजात होना चाहिए ।।
दिया जला उजाला सारी रात होना चाहिए ।।

वसंत कुंज वाटिका सुगंध को संवारती,
निहारती शुचि स्नेह का वातावरण निखारती,
इस देश की झनकार को साहित्य नित उचारती,
उठो, जगो, निद्रा तजो, दुनिया करेगी आरती,
सहयोग के लिए सहयोगी हाथ होना चाहिए।।
दिया जला उजाला सारी रात होना चाहिए।।

संघर्ष के उत्कर्ष से आदर्श सा हो आचरण,
अनेकों झंझावात से रक्षित रहे ये आवरण,
संसार को आचार संहिता स्वतः सिखलाइए,
चलना है सत्य रास्ते तो रास्ता दिखलाइए,
अवरुद्ध कर अवरोध को आजाद होना चाहिए।।
दिया जला उजाला सारी रात होना चाहिए।।

पढ़िए :- प्रेरणा देने वाली कविता | तेरे सपनों ने तुझे पुकारा


रचनाकार  का परिचय

जितेंद्र कुमार यादव

नाम – जितेंद्र कुमार यादव

धाम – अतरौरा केराकत जौनपुर उत्तरप्रदेश

स्थाई धाम – जोगेश्वरी पश्चिम मुंबई

शिक्षा – स्नातक

“ छात्रों के लिए प्रेरणादायक कविता  ” ( Motivational Poem For Students ) के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे लेखक का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

2+

Leave a Reply