योग पर कविता :- आओ मिलकर योग करें | Yog Par Kavita

योग का महत्व बताती ( Yog Par Kavita ) योग पर कविता  – आओ मिलकर योग करें

योग पर कविता

योग पर कविता

आओ मिलकर योग करें ।
घर में मिलकर नित योग करें ।
हम योग करें  निरोग रहें।
आओ मिलकर योग करें ।

प्रातः काल निद्रा से जाग।
फिर गर्म पानी पिया करे।
हाथ मुँह धोकर शौच पश्चात।
आओ मिलकर योग करें ।
कम्बल पर आसन लगाए।
सर्व प्रथम भस्त्रिका करें ।
कपालभाति है माँ हमारी।
इसे एक मिनट से सुरु करे
आओ मिलकर योग करें ।

अनुलोम विलोम है पितृ सम।
यह मानसिक विकास करे।
यह आपका संतुलन बनाता
इसे हर समय हम किया करे ।
आओ मिलकर योग करें ।
भ्रामरी की शान निराली।
स्मरण शक्ति मे बढत करे।
कान की सब बीमारी को।
मिलकर जड़ से दूर करे।
आओ मिलकर योग करें ।

उद्गीत मे ओमकार छिपा है ।
सोहम के सुर को सुना करे।
अग्नि सार की बात निराली ।
सब मिलकर के योग करें ।
आओ मिलकर योग करें ।
त्राटक की हैअजब कहानी।
नेत्रों की ज्योति बढ़ा करे।
प्राणायाम और आसन है
योग के दोनो सोपान करे।
आओ मिलकर योग करें

सूर्य नमस्कार आसन का वृन्द।
बारह आसन नित किया करे।
जिसने योग का अलख जगाया।
उन स्वामी रामदेव को नमन करे।
इक्कीश जून है विश्व योग दिवस।
जन जन को मिलकर जागरूक करें ।
योग के प्रभावों से फिर
दूर हम सारे रोग करें ।
महत्त्व बताकर योग के सबको
जन जन को निरोग करें ।
आओ मिलकर योग करें ।

यह भी पढ़िए – अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर शायरी व स्लोगन


रचनाकार परिचय

योग पर कविता :- आओ मिलकर योग करें | Yog Par Kavita

मैं सौदामिनी खरे पति स्व0 अशोक खरे।

मैं एक शिक्षिका हूँ रायसेन जिले की निवासी हूँ। हिन्दी साहित्य की सेवा करना अपना सौभाग्य समझती हूँ, सभी रस पर लेखन करना मेरी विधा गीत, गजल, दोहे छंद कविता नज्म आदि है।

अभी तक साझा संकलन, कश्तियो का सफर ,काव्य रंगोली में, तथा मासिक पत्रिका ग्यान सागर मे प्रकाशित हुई है हिन्दी भाषा डाट काम पर भी रचनाऐ प्रकाशित हुई है,नव सृजन कल्याण समिति की फाउन्डर मेम्बर मे मीडिया प्रभारी हूँ ।

“ योग पर कविता ” ( Yog Par Kavita ) के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे रचनाकार का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.