गणतंत्र दिवस पर हिंदी कविता :- नया भारत बनाना है

0

आप पढ़ रहे हैं गणतंत्र दिवस पर हिंदी कविता :-

गणतंत्र दिवस पर हिंदी कविता

गणतंत्र दिवस पर हिंदी कविता

ये एक लोकतंत्र है
ये देश स्वतंत्र है
देश ने अब ठाना है
हमें नया भारत बनाना है

विवेकानंद का सपना है ये
देश उसका अपना है ये
जन जन को जगाना है
हमें नया भारत बनाना है

नारी शक्ति जगायेंगे
स्वाभिमान लाएंगे
ये देश का तराना है
हमें नया भारत बनाना है

गांधी तंत्र चलाएंगे
देश स्वच्छ बनाएंगे
ये उनका नजराना है
हमें नया भारत बनाना है

गणतंत्र का मूल जवान है
इनके शौर्य से भारत महान है
जर्रा जर्रा महकाना है
हमें नया भारत बनाना है

झुकना जिसकी शान है
मिटना जिसका अभिमान है
जग में परचम लहराना है
हमें नया भारत बनाना है

हिमालय जिसका ताज है
गंगा जिसका आगाज़ है
कण-कण जिसका परवाना है
हमें नया भारत बनाना है

पढ़िए :- 26 जनवरी पर कविता | लोकतंत्र की है जो पहचान


रचनाकार का परिचय

पवन गोयल जी

यह कविता हमें भेजी है पवन गोयल जी ने दिल्ली से।

“ गणतंत्र दिवस पर हिंदी कविता ” ( Gantantra Diwas Par Hindi Kavita ) के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे रचनाकार का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

0

Leave a Reply