हिंदी कविता : भारत जीत जाएगा | Bharat Jeet Jaaega

आप पढ़ रहे हैं ( Hindi Kavita Ghar Me Rahkar ) हिंदी कविता : भारत जीत जाएगा :-

हिंदी कविता : भारत जीत जाएगा

हिंदी कविता : भारत जीत जाएगा

अभी घर में रहें हम सब ,
अपनों को बचा लें हम ।
घर को बचा लें हम ,
भारत को बचा लें हम ।
बहुत जल्दी ऐसा दिन आएगा ,
घर में रहकर ही भारत जीत जाएगा ।।

अभी वक्त बहुत अच्छा है,
दुनिया को सिखा दें हम ।
सड़कों पर ना जाकर ,
प्रकृति को बचा लें हम । ।
बहुत जल्दी ऐसा दिन आएगा,
घर में रहकर ही भारत जीत जाएगा ।।

नमस्ते परम्परा अपना ,
पूरी दुनिया कह रही है ।
सनातन संस्कृति अपनी ,
पूरा विश्व निभा रहा है ।।
बहुत जल्दी ऐसा दिन आएगा,
घर में रहकर ही भारत जीत जाएगा ।।

झुक गया भ्रष्टाचारी है,
देशद्रोही भी झुक जाएगा ।
सब नतमस्तक हो रहे ,
मां भारती के आगे ।।
बहुत जल्दी ऐसा दिन आएगा,
घर में रहकर ही भारत जीत जाएगा ।।

अब वक्त बहुत कम है ,
हम आपस में न लड़ें ।
इतिहास सनातन का ,
जन – जन को हम कहें ।।
बहुत जल्दी ऐसा दिन आएगा,
घर में रहकर ही भारत जीत जाएगा ।।

राम – कृष्ण का भारत,
दुनिया को मार्ग दिखाएगा ।
शताब्दी इक्कीस का ,
केन्द्र यही कहलायेगा ।।
बहुत जल्दी ऐसा दिन आएगा,
घर में रहकर ही भारत जीत जाएगा ।।

जाग उठा घन्टी से ,
फिर करोड़ों दीएं जले ।
मान लो बात मोदी का ,
पुनः विश्व गुरु हम बने ।।
बहुत जल्दी ऐसा दिन आएगा,
घर में रहकर ही भारत जीत जाएगा ।।

पढ़िए :- ग़ज़ल – इंसानियत से दूर है इंसान इन दिनों


रचनाकार का परिचय :-

पं. अभिषेक कुमार दूबेनाम :- अभिषेक कुमार दूबे
पिता – श्री उमेश दूबे
माता – श्रीमती मीना देवी
कर्मकाण्डविद्
वेद विभूषण :- आर्षविद्या शिक्षण प्रशिक्षण सेवा संस्थान , मोतिहारी
वेदाचार्य (एम. ए.) “चत्वारि लब्ध स्वर्ण पदक प्राप्त”
शिक्षा शास्त्री :- सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय, वाराणसी
एम. ए (संस्कृत ) :- राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय , फैजाबाद

प्रकाशन :- 10 शोधपत्र , 100+ लेख पत्रिका एवं दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित हो चुके हैं।

स्थाई निवास :- परसौनी खेम, चकिया, पूर्वी चम्पारण, बिहार

“ हिंदी कविता : भारत जीत जाएगा ” ( Hindi Kavita Ghar Me Rahkar ) के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे रचनाकार का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

You may also like...

1 Response

  1. Avatar Shubham Kumar says:

    अति सुंदर रचना

Leave a Reply

Your email address will not be published.