हिंदी कविता जंग जीतना चाहते हैं | Jung Jeetna Chahte Hain

1+

हिंदी कविता जंग जीतना चाहते हैं

हिंदी कविता जंग जीतना चाहते हैं

हर जंग जीतना चाहते हैं हम
हर इम्तिहान में उतरना चाहते हैं हम ।
जो बस हम चाहें वो पा सकें,
बस यही सीखना चाहते हैं हम।

काश ! कोई सिखा दे मुझे आकर
कोई बना दे नन्हा सागर,
बहती रहूँ इस दुनिया में
हर जगहों पर जाकर।

कौन देगा मेरा साथ
किसका होगा मेरे सिर पर हाथ
कौन सिखाएगा चलना हमें
कौन बताएगा बढ़ना हमें।

कौन बनेगा सच्चा साथी
इस दिया का कौन है बाती
कहीं हम न जाए हार
हमारा सपना न हो जाए बेकार

भगवान इतनी कृपा करना
जीतते जाएं हम हर बार।

पढ़िए :- जोश भरने वाली कविता | प्रबल इच्छा ने जब ललकारा


ज्योति मौर्यायह कविता हमें भेजी है ज्योति मौर्या जी ने जौनपुर से।

“ हिंदी कविता जंग जीतना चाहते हैं ” ( Hindi Kavita Jung Jeetna Chahte Hain ) के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे रचनाकार का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

1+

Leave a Reply