हिंदी कविता कुछ पल | Hindi Kavita Kuchh Pal

0

आप पढ़ रहे हैं ( Hindi Kavita Kuchh Pal ) हिंदी कविता कुछ पल :-

हिंदी कविता कुछ पल

हिंदी कविता कुछ पल

नीला आकाश ,
आकाश में उड़ते पंक्षी
सागर की लहरें ,
लहरों पर चलती नाव।

रिमझिम बरसता पानी
वो ओस की बूंदे,
मानो सब कुछ कह देती हों।

ऐसा लगता है रख लूँ ,
समेट लूँ सबको अपने पास
कहीं खो न जायें डरता हूँ ,
बहुत किस्मत से मिलते हैं ये पल।

कभी कभी लगता है
इन पलों में ऐसे खो जाऊँ
किसी भी चीज की रहे न कोई खबर
सचमुच कितने सुहाने होते हैं ये पल।

ये पल कितने अपने होते हैं
कितनी ख़ामोशी होती है इन पलों में
फिर भी मानो कुछ कह देते हैं
बंद लवों से सब कुछ बयां कर देते हैं
ये पल……


रचनाकार का परिचय

प्रभात पांडे

नाम : प्रभात पांडे
पिता का नाम : श्री शिव कुमार पांडे
पता : 121 बौद्ध नगर नौबस्ता कानपुर
व्यवसाय : विभागाध्यक्ष कंप्यूटर विभाग सेन डिग्री कॉलेज कानपुर

आपकी रचनाएं व लेख विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं पर प्रकाशित होते रहते हैं।

“ हिंदी कविता कुछ पल ” ( Hindi Kavita Kuchh Pal ) के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे लेखक का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

0

Leave a Reply