समय पर कविता :- समय आएगा | Samay Par Kavita In Hindi

4+

समय कभी किसी रुके हुए इंसान का नहीं हुआ है। जो समय के साथ चला है वो इस संसार में अपनी एक अलग पहचान बना लेता है। और क्या करता है समय आइये पढ़ते हैं ( Samay Par Kavita ) समय पर कविता में :-

समय पर कविता

समय पर छोटी कविता

समय आएगा, समय बीत जाएगा
किंतु सत्य यह है ये यूँ ही अटल रहेगा.
हम जीते रहेंगे यूँ ही मरते रहेंगे
जीवनचक्र हमारा ऐसे ही चलता रहेगा।

बदल जाना तुम समय के साथ
वरना समय न जाने तुमको कब बदल देगा,
मौत सिर्फ आत्मा को करती जुदा
समय न जाने जिंदगी में कितने पड़ाव लाएगा।

कर्म करते रहना, धर्म का दामन धाम
एक दूजे के बिना धर्म-कर्म कुछ काम न आएगा,
चले जायेंगे एक दिन दुनिया से
बस हमारे साथ हमारा नाम ही जायेगा।

पढ़िए :- वक्त पर कविता “कुछ खोया मिलाना है”


सारिका अग्रवाल यह कविता हमें भेजी है सारिका अग्रवाल जी ने जो कि बिरतामोड, नेपाल  में रहती हैं।

समय पर कविता ” के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे रचनाकार का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

4+

Leave a Reply