हिंदी कविता तभी तो जीतेगा इंडिया | Hindi Kavita Tabhi To Jeetega India

6+

कोरोना से मुक्ति के लिए प्रोत्साहित करती ( Hindi Kavita Tabhi To Jeetega India ) हिंदी कविता तभी तो जीतेगा इंडिया –

हिंदी कविता तभी तो जीतेगा इंडिया

हिंदी कविता : तभी तो जीतेगा इंडिया

घर में रहेगा इंडिया,
तभी तो जीतेगा इंडिया।

सामाजिक दूरी बनाए रखेगा,
तभी तो जीतेगा इंडिया।

बिना हाथ मिलाए नमस्कार कहेगा,
तभी तो जीतेगा इंडिया।

भारतीय परंपरा में रहेगा,
तभी तो जीतेगा इंडिया।

कोरोना से डरे बिना सतर्क रहेगा,
तभी तो जीतेगा इंडिया।

स्वच्छ रहेगा इंडिया,
तभी तो जीतेगा इंडिया।

अपने संस्कृति को अपना आएगा,
तभी तो जीतेगा इंडिया।

राज़ आज्ञा का पालन करेगा,
तभी तो जीतेगा इंडिया।

मोदी जी का सहयोग करेगा,
तभी तो जीतेगा इंडिया।

जीतेगा इंडिया तभी तो,
विश्व गुरु कहलायेगा इंडिया।

पढ़िए :- कोरोना वायरस पर कविता – चलो आज घर में वक्त बिताते हैं


रचनाकार का परिचय

नितेश कुमार पाठक

नाम :- नितेश कुमार पाठक
पिता :- शिवेश पाठक
माता :- किरण देवी
वेद विभूषण :- आर्षविद्या शिक्षण प्रशिक्षण सेवा संस्थान वेद विद्यालय

शास्त्री :- सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय वाराणसी

स्थाई निवास :- छोटा बरियाड़पुर मोतिहारी बिहार

“ हिंदी कविता तभी तो जीतेगा इंडिया ” ( Hindi Kavita Tabhi To Jeetega India ) के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे रचनाकार का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

6+

Leave a Reply