प्रेम कविता हिंदी – ये बेदाग इश्क़ | Prem Kavita In Hindi

2+

प्रेम कविता हिंदी “ये बेदाग इश्क़” – प्रिय पाठकों हमारी आज की कविता प्रेमिका के बदलते व्यवहार को लेकर है कि कल तक जिस प्रेमिका से हमारी इतनी बात होती है आज उसके लिए प्रेम के शब्दों का कोई महत्व नही है, तो आइये पढ़ते हैं- 

प्रेम कविता हिंदी

प्रेम कविता हिंदी

न जाने कौन सा मोड़ ले रहा,ये बेदाग इश्क मेरा।
यकीन तो है उन पर फिर भी, क्यूँ है छाया घना अंधेरा।
गहराई में इश्क़ की,कुछ यूँ पसरकर बैठी तन्हाई।
कि सिमट रही हैं बातें अब,और न हो रहा है सवेरा।
न जाने कौन सा मोड़ ले रहा,ये बेदाग इश्क मेरा।

तन्हाई के आलम से बातों का सिलसिला यूँ मिटा।
वो ही मसगूल हुए कहीं जो, खुद थे कहानी के रचयिता।
कुछ खबर नहीं कहाँ खो गए, देकर यादों का बसेरा।
बेचैनी बढ़ी है अंदर जैसे, जल रही हो हमारी चिता।
न जाने कौन सा मोड़ ले रहा है, ये बेदाग इश्क मेरा।

कि जलते थे कभी जो गर, देखा किसी गैर का चेहरा।
उनका ही हरपल मुझ पर, डाला रहता था अपना पहरा।
हम तो बेखबर थे, न जाने ये इश्क फिर क्या मोड लाया
जीवन में कोई पहाड़ टूटा और मच गया है खूब खलेरा
न जाने कौन सा मोड़ ले रहा,ये बेदाग इश्क मेरा।

सपना हमने ही सजाया कि, पहनेंगे उनके नाम का सेहरा।
न सोचा था गमों से भरा, होगा हमारा यह प्यार का डेरा।
थक गया,हार गया हूँ मैं अब, हो गया हूँ अधमरा इश्क़ में
कोई सुध नहीं रहती अपनी अब घूम रहा हूँ बनके बहरा
न जाने कौन सा मोड़ ले रहा है, ये बेदाग इश्क मेरा।

उम्मीद है वो आयेंगे इक दिन,लेकर प्यार का सवेरा।
जीवन में हमारे करेंगे , अपने आशियाने में बसेरा ।
वो और मै होंगे फिर साथ , होगी प्यार की बरसात ।
महकेंगे हम भी खूब ,जब पहनेंगे तुम्हारे नाम का सेहरा।
न जाने कौन सा मोड़ ले रहा है, ये बेदाग इश्क मेरा।

पढ़िए – बेवफा दो लाइन शायरी स्टेटस


रचनाकार का परिचय
हरीश चमोलीमेरा नाम हरीश चमोली है और मैं उत्तराखंड के टेहरी गढ़वाल जिले का रहें वाला एक छोटा सा कवि ह्रदयी व्यक्ति हूँ। बचपन से ही मुझे लिखने का शौक है और मैं अपनी सकारात्मक सोच से देश, समाज और हिंदी के लिए कुछ करना चाहता हूँ। जीवन के किसी पड़ाव पर कभी किसी मंच पर बोलने का मौका मिले तो ये मेरे लिए सौभाग्य की बात होगी।

“ प्रेम कविता हिंदी ” ( Prem Kavita In Hindi ) के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे लेखक का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

2+

2 Comments

  1. Avatar Harish chamoli

Leave a Reply