भारतीय सैनिक पर कविता – भारती की जय कहूँगा | Bhartiya Sainik Poem In Hindi

4+

भारतीय सैनिक पर कविता – प्रिय पाठकों पर आज आपके लिए प्रस्तुत है हमारे देश के जाबांज सैनिकों को समर्पित सैनिक पर कविता – भारती की जय कहूँगा  , इस कविता में एक सैनिक का देश के प्रति प्रण बताया गया है कि कैसे वह भारत माँ की सेवा हित कर्तव्य निष्ठ होकर अटूट प्रतिज्ञा लेता है और अपना सम्पूर्ण जीवन निस्वार्रथ भाव से भारत माँ की सेवा में लगा देता है. आइये पढ़ते हैं यह भारतीय सैनिक पर कविता ( Bhartiya Sainik Poem In Hindi ) “भारती की जय कहूँगा” :-

भारतीय सैनिक पर कविता
भारतीय सैनिक पर कविता

जब कभी मैं साँस लूँगा।
भारती की जय कहूँगा।

देश का हर वीर कहता।
लाख विपदा नित्य सहता।
भारती की आन हित मैं
देश सीमा साध रहता।

मौत से भी मैं लड़ूंगा
भारती की जय कहूँगा।

प्राण मेरे भले जायें ।
देश हित के काम आयें।
मस्तक रहे गर्वित सदा
हम सभी को ये सुहाये।

जोश से हुंकार लूँगा।
भारती की जय कहूँगा।

हूँ खड़ा मैं तान सीना।
हाल मुश्किल में भी जीना।
प्रण किया माँ की रक्षा का
दुश्मनों का चैन छीना।

तिरंगा जब हाथ लूंगा।
भारती की जय कहूँगा।

रक्त मेरा खौलता है।
धमनियों में डोलता है।
भारती का विजय नारा
मन सदा ये बोलता है।

अन्तिम क्षणों तक लड़ूंगा।
भारती की जय कहूँगा।

देश मेरा है निराला।
हृदय में है अग्नि ज्वाला।
दृष्टि जिसकी भी बुरी थी
प्राण उसका छीन डाला।

छोड़ सांसे जब मरूंगा।
भारती की जय कहूँगा।

पढ़िए – वतन पर कविता “वतन से प्यार करते हैं”


profile-imageहिंदी प्याला ब्लॉग  के समस्त सदस्यों को मेरा सादर नमन। मेरा नाम हरीश चमोली है ।मैं उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल जिले के एक छोटे से शहर चम्बा का रहने वाला एक कवि हृदयी व्यक्ति हूँ। बचपन से हृदय में देशभक्ति के भाव और अपनी भाषा के लिए समर्पण का भाव लिए कुछ न कुछ लिखने का शौक रखता हूँ। बस इसी सकारात्मक सोच के साथ जीवन मे आगे बढ़ना चाहता हूँ और जीवन के किसी भी पड़ाव में कभी किसी मंच पर बोलने का मौका मिले तो यह मेरे लिए सौभाग्य की बात होगी।

मेरा परिचय एवं उपलब्धियां निम्न हैं – नाम-  हरीश चमोली पिता का नाम -श्री राजेंद्र  प्रसाद  चमोली माता का नाम –  श्रीमती  प्रेमा  देवी चमोली जन्म तिथि –  21जनवरी1991 जन्म स्थान –  ग्राम- डोबरा, पट्टी – सारज्यूला, जिला-  टिहरी गढ़वाल (  उत्तराखंड ) स्थाई  निवास  –  चम्बा, टिहरी गढ़वाल ,(उत्तराखंड) शिक्षा – डिप्लोमा  इन हॉस्पिटैलिटी  (देहरादून) व्यवसाय – फ़ूड  न बेवरेज इंडस्ट्री  प्रेरणा श्रोत- सुशील चमोली एवम दीक्षा बडोनी रूचि –  कविता लेखन /समाज सेवा उपलब्धियां  –  स्वरचित कविताएँ अनेक  डिजिटल पोर्टल पर प्रकाशित होती रहती हैं तथा “शब्दों की पतवार”  नामक साझा काव्य संकलन प्रकाशित है।

“ भारतीय सैनिक पर कविता ” ( Bhartiya Sainik Poem In Hindi ) के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे लेखक का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

 

4+

2 Comments

  1. Avatar Mani agarwal

Leave a Reply