रक्षाबंधन पर शायरी :- राखी पर भाई और बहन की शायरी

0

रक्षाबंधन पर शायरी रिश्ते तो कई होते हैं दुनिया में लेकिन एक रिश्ता बहुत ही खास होता है। ये रिश्ता है भाई और बहन का। भाई और बहन चाहे कितनी ही दूर क्यों न हों। उनके बीच का प्यार कभी कम नहीं होता। माँ के बाद बहन ही होती है जो एक आदमी के लिए हमेशा दुआ मांगती रहती है और उसका ख्याल रखती है।

बहन छोटी हो या बड़ी, वो हमेशा भाई का ख्याल रखती है और अपने भाई से बहुत प्यार करती है। वैसे तो भाई-बहन का प्यार सदा बरक़रार रहता है लेकिन एक ऐसा पर्व है जो इस प्यार को कई गुना बाधा देता है वो है रक्षाबंधन का त्यौहार। इसी प्यार के एहसास को मैंने शायरी में प्रस्तुत करने की कोशिश की है। आइये पढ़ते हैं :- ” रक्षाबंधन पर शायरी ”

रक्षाबंधन पर शायरी

रक्षाबंधन पर शायरी

1.
रिश्ते कई हैं दुनिया में पर ये रिश्ता कुछ खास है
बहना ने जो हाथों पे बांधा वो धागा नहीं विश्वास है,
दूरी हो चाहे कोसों की पर दिल से कभी न दूर हैं
ख़ुशी हो या हो गम हो कोई उसे हो जाता अहसास है
रिश्ते कई हैं दुनिया में पर ये रिश्ता कुछ खास है।

2.
बंधन ये प्यार का जो तूने
मेरे हाथों पर बांधा है,
मरते दम तक मैं अपना फ़र्ज़ निभाऊंगा
तुझसे ये मेरा वादा है।

3.
रेशम की डोरी हाथों में
और माथे पे लगा है चन्दन
सलामत रहे भाई हमारा
करते हैं प्रभु के आगे वंदन।

4.
गम मेरे हों सारी जिंदगी के
और सारी खुशीयाँ तुम्हारी हो,
इस भाई की जान हो तुम
और पापा की राजकुमारी हो।

5.
एक मर्द की तकलीफ जिसको
बिलकुल भी न सहन है
एक है माँ और
दूसरी बहन है।

6.
भाई बहन के रिश्तों में बना रहे सदा प्यार
पास कभी न ग़म आएं रहे खुशियों भरी बहार,
इसी दुआ के साथ मुबारक
राखी का त्यौहार।

7.
साथ मांगती भाई का न मांग रही उपहार
रेशम के धागों में बहन बाँध रही है प्यार,
भाई का फर्ज निभाना तुम रखना राखी की लाज
बहन से मिलने आना जब भी आए ये त्यौहार।

8.
सभी रिश्तों में बहुत खास ये रिश्ता है
हर बहन के लिए उसका भाई फ़रिश्ता है
भाई भी रखता है अपनी बहन का ख़याल
दोनों के प्यार की रक्षाबंधन है मिसाल

पढ़िए :- भाई पर कविता | मेरे भाई तुम

आपको यह ” रक्षाबंधन पर शायरी ” शायरी संग्रह कैसा लगा? इसके बारे में हमें अवश्य बतायें। इस शायरी को सोशल प्लेटफॉर्म्स पर जरूर शेयर करें। आप सबको हिंदी प्याला ब्लॉग की तरफ से रक्षाबंधन की बहुत-बहुत शुभकामनायें।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

धन्यवाद।

0

Leave a Reply