हिंदी दिवस पोएम :- हिंदी को प्रणाम करते हैं

हिंदी भाषा को समर्पित हिंदी दिवस पोएम ” हिंदी को प्रणाम करते हैं ” :-

हिंदी दिवस पोएम

हिंदी दिवस पर कविता

हम अपनी राष्ट्रभाषा ,मातृभाषा
हिंदी को प्रणाम करते हैं
वतन की शान ,हिंदुस्तान की जान,
अपनी पहचान हिंदी का सम्मान करते है।

है जाति अलग, है धर्म अलग भेष अलग परिवेश अलग
सबको एक दूजे से पहचान बढ़ानी है।

हिंदी भाषा हम सब की जननी
जननी का मान बढ़े जग में हम,
सबको मिलकर हिंदी भाषा अपनानी है।

सभ्यता ,संस्कृति रहे जीवित हरदम,
अपनी मातृभाषा की खुशबू हर कोने कोने में बिखरानी है।

पहचान दिलाई जिसने हमको,
उसकी गरिमा सर्वोच्च शिखर पहुंचानी है।

प्रेम भाव, सदभाव सिखाती
दिल के तारो को झंकृत करती,
हिंदी मीठी वाणी है।

हिंदी स्वाभिमान है अपना
नाज़ हमेशा रहता हमको
हम हिंदी भाषी प्राणी है।


रचनाकार कर परिचय :-

अवस्थी कल्पनानाम – अवस्थी कल्पना
पता – इंद्रलोक हाइड्रिल कॉलोनी , कृष्णा नगर , लखनऊ
शिक्षा – एम. ए . बीएड . एम. एड

“ हिंदी दिवस पोएम ” ( Hindi Diwas Kavita Poem ) के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे लेखक का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

यदि आप भी रखते हैं लिखने का हुनर और चाहते हैं कि आपकी रचनाएँ हमारे ब्लॉग के जरिये लोगों तक पहुंचे तो लिख भेजिए अपनी रचनाएँ hindipyala@gmail.com पर या फिर हमारे व्हाट्सएप्प नंबर 9115672434 पर।

हम करेंगे आपकी प्रतिभाओं का सम्मान और देंगे आपको एक नया मंच।

धन्यवाद।

You may also like...

6 Responses

  1. Avatar Saumya awasthi says:

    Very nice lines ❤❤

  2. Avatar Priya says:

    Very beautiful poetry…..

  3. Avatar Br Awasthi says:

    Bahut hi sundar kavita

  4. Avatar श्याम बिल्दानी 'सादगी' बड़नेरा अमरावती महाराष्ट्र says:

    बहुत ही बेहतरीन और उम्द़ा रचना लिखी है आपने आदरर्णिया कल्पना जी।बहुत-बहुत स्वागत है आपका

  5. Avatar Awasthi kalpana says:

    आप सभी का हम आभार व्यक्त करते है दिल से आप हमारी रचनाओं को पढ़कर अपने विचार जरूर अभिव्यक्त करे आपका विचार हमारे मनोबल को प्रबल करता है आप सभी का बहुत बहुत आभार

  6. Avatar Janhavi Singh says:

    Very nice lines

Leave a Reply

Your email address will not be published.